Latest News

शनिवार, 22 अक्तूबर 2016

डीएम की कुर्सी पर बैठकर फर्जी डीएम ने सुनी समस्याएं

शाहजहांपुर 22 अक्टूबर 2016। डीएम की गैरमौजूदगी में आज उनके कार्यालय में बैठा एक युवक फर्जी डीएम बनकर जनता की समस्याएं सुनने लगा। लोग लाइन लगाकर बाकायदा युवक से मिल रहे थे। डीएम कार्यालय पहुंचे सिटी मजिस्ट्रेट ने युवक को पुलिस से पकड़वा दिया। युवक पूर्व तहसीलदार का पुत्र है और मानसिक रोगी भी है। पुलिस ने उसे बाद में छोड़ दिया।
शनिवार को डीएम रामगणेश पुवायां में आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल होने गये हुए थे। इस बीच करीब 12 बजे अफसर की कद-काठी वाला एक युवक डीएम के कार्यालय में पहुँच गया। वहां डीएम की कुर्सी खाली पाकर युवक कुर्सी पर बैठ गया। डीएम कार्यालय के बाहर खड़े तमाम फरियादी उस युवक को डीएम समझ कर उससे अपनी समस्याएं बताने लगे। युवक ने बाकायदा लोगों की समस्याएं सुनी। इस बीच डीएम कार्यालय पहुंचे सिटी मजिस्ट्रेट विजय शंकर दुबे युवक को डीएम की कुर्सी पर बैठे देख हक्के-बक्के रह गए। उन्होंने तत्काल कर्मचारियों को बुलाकर युवक को पकड लिया और उससे पूछताछ करने लगे।

सिटी मजिस्ट्रेट ने इस बात की जानकारी सदर बाजार पुलिस को दी। सूचना पाकर पहुंचे कचहरी चौकी प्रभारी सुनील कुमार यादव ने युवक को अपनी हिरासत में ले लिया। पकड़ा गया युवक थाना पुवायां के गाँव नाहिल का निवासी योगेश मिश्रा है। योगेश के पिता धर्मप्रकाश मिश्रा तहसीलदार रह चुके हैं। योगेश शहर निवासी अपने बहनोई लेखपाल अनुराग दिवेदी के पास गत दिवस आया हुआ था। आज वह घर से निकला तो टहलते हुए कलेक्ट्रेट पहुँच गया। योगेश इलाहबाद में सिविल की तैयारी कर रहा था, जहाँ उसकी मानसिक स्थिति बिगड़ गई। पुलिस ने परिजनों को बुलाकर योगेश को उनकी सुपुर्दगी में दे दिया।

Special News

Health News

Advertisement


Political News

Crime News

Kanpur News


Created By :- KT Vision