Latest News

सोमवार, 5 सितंबर 2016

भुखमरी की कगार पर पहुंचे परिवार को आपकी मदद की है दरकार

कानपुर 05 सितम्बर 2016 (मो0 नदीम). कहते है जिसका कोई नहीं होता है उसका भगवान होता है लेकिन शायद इस राज मिस्त्री के परिवार से भगवान भी रूठ गया और पूरा परिवार भुखमरी की कगार पर पहुंच गया है। इस परिवार की सुध लेने के लिये ना ही कोई  नेता आगे आ रहा है और ना ही कोई सामाजिक संस्था.
मामला है छावनी विधान सभा के  मीरपुर सुलभ न0 35 कमेला मलिन बस्ती निवासी पप्पू (ढकेलु) उम्र 45 साल का जो मजदूरी करके जैसे तैसे अपने परिवार का भरण पोषण कर रहा था कि अचानक उसके बीमार हो जाने वजह से पूरे परिवार पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। करीब सात महीने पहले पप्पू तख़त से गिर गया था  जिसकी वजह से उसकी रीढ़ की हड्डी डैमेज हो गई थी। जिसका हैलट में कई महीने इलाज भी चला लेकिन पैसे के अभाव के चलते उसका सही ढंग से इलाज नहीं हो पाया और पप्पू चलने फिरने से मोहताज हो गया।
इस मुश्किल की घड़ी में इस परिवार का कोई भी साथ देता नहीं दिखाई दे रहा है। स्‍थानीय नेताओं से लेकर अधिकारियों और सामाजिक संस्‍थाओं तक सभी के आगे हाथ फैलाने के बावजूद किसी ने इनकी मदद नहीं की। खुद को गरीबों का हमदम कहलाने वाले नेताओं में से एक भी इस परिवार का दुःख बांटने अभी तक नहीं पंहुचा है और ना ही कोई सामाजिक संस्था आगे आयी है।
पीड़ित की पत्नी फमीदा का कहना है कि पूरा परिवार मिलकर दूसरों के घर के झूठे बर्तन साफ़ करके जो पैसे कमाते हैं उससे ही बड़ी मुश्किल से परिवार का पेट पलता है। अब पति के इलाज के लिए पैसा कहां से लाये, कोई भी हम गरीबों की मदद करना नहीं चाहता लगता है। यदि आप इस परिवार की कोई मदद करना चाहते हैं तो इस नम्‍बर पर संपर्क कर सकते हैं .

पीड़ित परिवार का मोबाइल नम्‍बर-
+91-8188983919

Special News

Health News

International


Created By :- KT Vision