Latest News

शुक्रवार, 12 अगस्त 2016

गृहमंत्री ने कहा छत्तीसगढ़ व अन्य क्षेत्रों के नक्सलियों से भी हैं ISIS के संबंध

रायपुर 11 अगस्त 2016 (जावेद अख्तर). छत्तीसगढ़ के गृहमंत्री राम सेवक पैकरा ने कहा है कि आईएसआईएस के छत्तीसगढ़ के नक्सलियों से भी संबंध हैं। पुलिस अभी इसकी पड़ताल कर रही है और छत्तीसगढ़ पुलिस आतंकी गतिविधियों से निपटने में सक्षम है। बांग्लादेश की घटना के बाद देश में जारी हुए अलर्ट पर गृहमंत्री पैकरा ने मीडिया से चर्चा के दौरान कहा कि आतंकी गतिविधियों पर सरकार सख्त कार्रवाई कर रही है और इसे लेकर लेकर हम अलर्ट भी हैं।

सुरक्षाबल व पुलिस इनसे निपटने के लिए पूरी तरह मुस्तैद व सक्षम भी है। वहीं ये भी कहा कि कई बार जानकारियां मिलती रहीं हैं कि आईएसआईएस के संबंध यहां के नक्सलियों के अलावा अन्य क्षेत्रों के नक्सलियों से भी हैं। उल्लेखनीय है कि आईएसआईएस की नक्सलियों से सांठगांठ की बात पहले भी सामने आ चुकी है। वृंदावन से एटीएस ने कुछ महीने पहले आईएसआईएस के संदेहियों को हिरासत में लिया था जिनके पास से विस्फोटक भी बरामद हुए थे। इसी कड़ी में जब इसकी पड़ताल की गई तो पता चला था कि यह विस्फोटक नक्सली उन्हें सप्लाई कर रहे हैं। तब से इस पूरे मामले में नक्सलियों के भी संबंधों को लेकर जांच चल रही है।
  
दिल्ली से मिल चुका है अलर्ट -
छत्तीसगढ़ पुलिस को दिल्ली से इस बारे में कई बार अलर्ट आ चुका है। इसे लेकर नक्सल क्षेत्र में भी नज़र रखी जा रही है। छत्तीसगढ़, ओडिशा, आंध्रप्रदेश और झारखंड पुलिस की कई बार गृह मंत्रालय के अफसर बैठक ले चुके हैं और उन्होंने इस बारे में उन्हें हिदायत भी दी गई थी। परंतु इसमें अभी तक इन क्षेत्रों से ऐसे किसी भी नक्सलियों की गिरफ्तारी नहीं हुई है जिससे कि पूरी सत्यता का पता चल सके।
   
नक्सली बदल रहे अपना ठिकाना -
छत्तीसगढ़ के बस्तर क्षेत्र व अन्य नक्सल  प्रभावित क्षत्रों में सुरक्षाबलों की बढ़ती संख्या व बढ़ते दखल से नक्सली इन क्षेत्रों से तेजी से हट रहें हैं। इंटेलिजेंस ब्यूरो की रिपोर्ट में बताया गया है कि वर्ष 2010 के मुकाबले वर्ष 2016 तक में नक्सलियों की संख्या में तकरीबन 42 फीसदी की कमी आई है और यह संख्या दिन प्रतिदिन तेजी से कम होती जा रही है। वहीं बड़ी संख्या में आत्मसमर्पण से भी नक्सलियों के अभियान में बड़ी गिरावट आई है।

रिपोर्ट में बताया गया कि अब नक्सली छत्तीसगढ़ के इलाकों से हटकर मध्य प्रदेश में अपना ठिकाना बनाने में लग गए हैं। तकरीबन दो हज़ार से भी अधिक नक्सलियों ने छत्तीसगढ़ छोड़कर मध्य प्रदेश के पन्ना व आसपास के इलाकों में नया ठौर ठिकाना तैयार कर रहें हैं। यह छत्तीसगढ़ प्रदेश के लिए अच्छी खबर है परंतु मध्य प्रदेश के लिए अच्छी खबर नहीं है। हालांकि रिपोर्ट मध्य प्रदेश सरकार को सौंपने की भी जानकारी प्राप्त हुई है।

Special News

Health News

Advertisement

Important News


Created By :- KT Vision