Latest News

बुधवार, 24 अगस्त 2016

यूपी विधानसभा में हंगामा, विपक्षी सदस्यों को मार्शल ने बाहर किया

नई दिल्ली 23 अगस्त 2016 (IMNB). कानून-व्यवस्था और अन्य मुद्दों पर सरकार को घेरने के लिये एकजुट हुए समूचे विपक्ष ने आज उत्तर प्रदेश विधानसभा में जोरदार हंगामा किया। नतीजतन विधानसभा अध्यक्ष को मार्शल बुलाकर उन्हें बाहर कराना पड़ा। सदन की कार्यवाही शुरू होते ही मुख्य विपक्षी बसपा के साथ-साथ भाजपा, राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) और अपना दल के सदस्य बैनर और तख्तियां लेकर सदन के बीचों-बीच आकर हंगामा करने लगे।

प्राप्‍त हुयी जानकारी के अनुसार बसपा सदस्यों ने दलितों पर अत्याचार नहीं चलेगा, नहीं चलेगा और कुछ अन्य नारे लिखी टोपियां पहनी थीं। वहीं, भाजपा ने कानून-व्यवस्था, बिजली और महिला सुरक्षा के मुद्दों को नारेबाजी के जरिये उठाया। रालोद सदस्यों ने भी गन्ना किसानों का बकाया भुगतान नहीं होने का मुद्दा उठाया। वहीं पीस पार्टी सदस्य अयूब अंसारी आदित्यनाथ के गुंडों को गिरफ्तार करो का नारा लिखा बैनर लिये देखे गये। विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पाण्डेय ने शोरगुल कर रहे सदस्यों से अपने-अपने स्थान पर बैठने का आग्रह किया, लेकिन हंगामा नहीं थमा। संसदीय कार्य मंत्री मोहम्मद आजम खां ने कहा कि सदन के बीचोबीच आकर हंगामा कर रहे विधायकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जानी चाहिये। ये सदस्य विधानसभा अध्यक्ष के सदन में आने और कार्यवाही शुरू होने से पहले ही सदन के बीचों बीच आकर उसकी अवमानना कर रहे हैं।

संसदीय कार्यमंत्री आजम खां ने कहा वे (विपक्षी सदस्य) चीजों को साम्प्रदायिक रंग देकर प्रदेश का माहौल खराब करना चाहते हैं। बसपा के सदस्य तो मीडिया में सस्ती लोकप्रियता पाने के लिये यह सब कर रहे हैं। यही वजह है कि वे हमें बैनर दिखाने के बजाय मीडिया को दिखा रहे हैं। इसी से उनके इरादे जाहिर हो जाते हैं। इस बीच, हंगामा करने वाले सदस्यों को सदन से बाहर करने का प्रस्ताव ध्वनिमत से पारित किया गया और मार्शल को बुलाया गया। मार्शल ने जब उन्हें बाहर करने की कोशिश की तो वे एक-दूसरे से सट गये। जहां कुछ विधायकों ने मार्शल का विरोध किया, वहीं कुछ अन्य विधायक स्वेच्छा से सदन के बाहर चले गये। 

बसपा के कुछ विधायकों को मार्शल का बलपूर्वक विरोध करते हुए भी देखा गया। संसदीय कार्यमंत्री आजम खां ने सम्बन्धित सदस्यों के इस रवैये को निन्दनीय करार दिया। उन्होंने कहा ऐसा सदन में पहले कभी नहीं हुआ। कुछ विधायक मार्शल का बलपूर्वक विरोध कर रहे हैं। विधानसभा अध्यक्ष पाण्डेय ने कहा कि उन्हें मजबूरन ऐसा सख्त कदम उठाना पड़ा जो उन्होंने पिछले साढ़े चार साल में नहीं उठाया था। इस पर खां ने कहा बसपा और भाजपा सिर्फ खबर बनाने के मकसद से सदन में दुर्व्यवहार की होड़ कर रहे हैं। सदन से बाहर किये जाने के बाद सम्बन्धित सदस्यों ने बाहर गलियारे में धरना-प्रदर्शन दिया।

Special News

Health News

International


Created By :- KT Vision