Latest News

गुरुवार, 3 मार्च 2016

बिलासपुर - शासकीय योजना मिड डे मील में झोल ही झोल, कढ़ी की जगह परोस रहे बेसन का घोल

बिलासपुर 03 मार्च 2016 (जावेद अख्‍तर). सेंट्रल किचन में तैयार हो रहे मध्यान्ह भोजन में मेनू का पालन नहीं किया जा रहा है। हाल ही में शहर के स्कूलों में बच्चों को कढ़ी के नाम पर बेसन का घोल दिया गया। इतना ही नहीं पापड़ की जगह चिप्स परोसा गया। नगर निगम ने मध्यान्ह भोजन के मेनू में बीते मंगलवार से बदलाव किया है। चावल, मिक्स दाल, झुरगा, राजमा और चना सब्जी के बजाय कढ़ी व पापड़ दिया गया। सेंट्रल किचन से आया भोजन जैसे ही बच्चों की थाली में पहुंचा वह काफी निराश हो गए।

प्राप्‍त जानकारी के अनुसार दिये गये भोजन में कढ़ी के नाम पर बेसन का घोल दिया गया था। इसमें न तो बूंदी थी और न ही कोई स्वाद आ रहा था। यही हाल पापड़ का रहा। इसकी जगह चिप्स दिया गया। इस पर अभिभावकों ने भी नाराजगी जताई है। सेंट्रल किचन संभाल रहे एनजीओ 'पहल' के प्रभारी सोनू महेश्वरी ने कहा कि मेनू में परिवर्तन के बाद यह पहला दिन था। इस वजह से कुछ समस्या हो सकती है। बेसन का आइटम बनाने की पहली बार कोशिश की गई। इस वजह से बूंदी घुल गई होगी। पापड़ साइज में थोड़ा छोटा है। कल  बच्चों को वेज पुलाव, टमाटर चटनी और पापड़ दिया जाएगा। इसके लिए सेंट्रल किचन में शाम से ही तैयारी चल रही थी। इधर स्कूल के शिक्षकों का कहना है कि मध्यान्ह भोजन को लेकर लगातार शिकायत मिल रही है।
आरोप है कि स्कूलों में छोटे बच्चों से गरम खाना परोसने के लिए कहा जाता है। इससे कभी भी हादसा हो सकता है। इस पर अभिभावक से लेकर निगम के अधिकारी तक का ध्यान नहीं दे रहे हैं।
    
हाथ धोने तक की व्यवस्था नहीं -

कलेक्टर पी. अन्बलगन के आदेश के बाद भी स्कूलों में भोजन के बाद हाथ धुलाने की व्यवस्था नहीं की गई है। कलेक्टर ने गुणवत्ता युक्त खाना और सफाई की व्यवस्था करने के लिए कहा था। इस पर कहीं भी ध्यान नहीं दिया जा रहा है।
    
नई सूची में यह भोजन मिलेगा -
 

सोमवार -     चावल, मिक्स दाल, आलू मटर सब्जी, अचार
मंगलवार -   कढ़ी, पापड़
बुधवार -      वेज पुलाव, टमाटर चटनी, पापड़
गुरुवार -      चावल मिक्स दाल, आलू चना, लौकी की सब्जी, अचार
शुक्रवार -     चावल, सांभर दाल, पापड़
शनिवार -    मिक्स वेज बिरयानी, खीर

हमारे यहां 457 बच्चे मध्यान्ह भोजन करते हैं। मेनू बदलने के बाद आज कढ़ी-पापड़ परोसा गया। छात्रा को परोसने के लिए नहीं कहा जाता। वह अपनी इच्छा से बर्तन पकड़े हैं। हाथ धोने का प्रबंध किया गया है। जल्द ही नल लगाया जाएगा। - जेपी शर्मा, प्रधान पाठक, शासकीय पूर्व माध्यमिक स्कूल चिंगराजपारा

रसोइयों ने पहली बार कढ़ी बनाई है, इसलिए ज्यादा पक गया। बूंदी घूल गई। स्वाद बहुत अच्छा था। किसी ने शिकायत नहीं की है। पापड़ टूट जाता था। - सोनू महेश्वरी, प्रभारी,सेंट्रल किचन

बच्चों के खाने में किसी तरह की कोताही बर्दाश्त नहीं करेंगे। मेनू में बदलाव होने के बाद एक सप्ताह गुणवत्ता देखेंगे। उसके बाद कार्रवाई करेंगे। कलेक्टर ने इस संबंध में पहले ही सख्त आदेश दिए हैं। फिलहाल कोई शिकायत नहीं मिली है। - हेमंत उपाध्याय, डीईओ, बिलासपुर

Special News

Health News

Advertisement


Political News

Crime News

Kanpur News


Created By :- KT Vision