Latest News

शुक्रवार, 1 जनवरी 2016

रमन सिंह, अजीत व अमित ने टेप को बताया फर्जी, अमित ने केस दर्ज करवाकर ठोंका मानहानि का मुकदमा

छत्तीसगढ़ 1 जनवरी 2016 (छत्तीसगढ़ ब्यूरो). रायपुर। मंतूराम पवार की नाम वापसी को लेकर लेनदेन का ऑडियो टेप जारी करने के मामले में पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के बेटे व मरवाही विधायक अमित जोगी ने बिलासपुर के सिविल लाइन थाने में शिकायत दर्ज कराई है। उन्होंने ऑडियो टेप को फर्जी करार देते हुए विशेषज्ञों से जांच कराने व दोषियों के खिलाफ आईटी एक्ट के तहत अपराध दर्ज करने की मांग की है। उन्‍होंने एक अंग्रेजी अखबार के एडिटर इन चीफ व पत्रकार के खिलाफ मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत में मानहानि का परिवाद पेश किया है।

विधायक अमित जोगी ने बिलासपुर के सिविल लाइन थाना प्रभारी को सौंपी अपनी शिकायत में कहा है कि मेरे पिता अजीत जोगी प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री रह चुके हैं। एक अंग्रेजी अखबार के पत्रकार ने मुझसे अंतागढ़ के मंतूराम पवार प्रकरण के संबंध में किसी ऑडियो टेप में मेरी व मेरे पिता अजीत जोगी की आवाज होना बताया है। जिस पर मैंने उन्हें यह बताया था कि उक्त आवाज मेरे व मेरे पिता की नहीं है। ऐसा कोई भी ऑडियो टेप यदि आपके पास है तो वह किसी व्यक्ति द्वारा फर्जी रूप से बनाया गया है। उन्हें यह खबर प्रकाशित नहीं करने के लिए भी अमित जोगी ने ई-मेल के माध्यम से कहा था।

* मरवाही विधायक अमित जोगी ने एक समाचार पत्र में प्रकाशित खबर को लेकर शिकायत दर्ज कराई है। उनकी शिकायत की जांच कराई जाएगी। लेकिन इस मामले में घटनास्थल सिविल लाइन थाना क्षेत्र नहीं है। जांच में जो भी तथ्य सामने आएगा उसके आधार पर वैधानिक कार्रवाई की जाएगी। - जे.आर. ठाकुर, एडिशनल एसपी

मुख्यमंत्री ने कहा टेप किसी साजिश के तहत
छग प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने टेप को लेकर कहा कि यह मनगढ़ंत व फर्जी टेप है, यह किसी गहरी साजिश कर सरकार को व मुख्यमंत्री पर कलंक लगाने के षड्यंत्र के तहत ही मामला को उठाया गया है। मेरे परिवार के सभी सदस्य राजनीति से दूर हैं, मेरे दामाद का तो राजनीति से कोई लेना देना नहीं रहता है। बावजूद इसके भी मेरे परिवार को इसमें घसीटा जा रहा है, जो कि निंदनीय है। भाजपा कभी भी ऐसे हथकंडे नहीं अपनाती, चुनाव मैदान में उतरकर सामना करते हैं। भाजपा अपनी कार्यशैली व स्वच्छ छवि से जीतती आई है। मंतूराम ने चुनाव से अपना नाम क्यों वापस लिया, यह सब कांग्रेस की अंतर्कलह का परिणाम है, यह जगजाहिर है।
   
अमित ने ठोंका मानहानि का मुकदमा
मरवाही विधायक अमित जोगी ने एक अंग्रेजी अखबार के एडिटर इन चीफ व पत्रकार के खिलाफ मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत में मानहानि का परिवाद पेश किया है। न्यायालय ने परिवाद को प्रारंभिक साक्ष्य के लिए 2 फरवरी को रखने का आदेश दिया है। अमित जोगी ने मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत में धारा 500, 499, 501,502 के तहत आपराधिक प्रकरण दर्ज कराने परिवाद पेश किया है। इसमें कहा गया है कि उनके पिता अजीत जोगी छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री थे और समाजसेवा में लगे हुए हैं। अखबार ने ऑडियो की जांच किए बिना झूठी खबर प्रकाशित की है। इससे जोगी परिवार की प्रतिष्ठा को ठेस पहुंची है। परिवाद में एडिटर इन चीफ और पत्रकार को पक्षकार बनाया है। परिवाद में आईटी एक्ट के तहत इनके खिलाफ प्रकरण पंजीबद्घ कराने की मांग की गई है। मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत में 2 फरवरी को अमित जोगी की गवाही होगी। और अमित जोगी ने सोशल मीडिया के माध्यम व्हाट्सअप्प पर लिंक भेज कर वीडियो द्वारा सफाई दिया है। :- https://youtu.be/twwnZLmyYvo       

मंतूराम ने थाने में दिया आवेदन कहा टेप फर्जी
पाखंजूर। बीते तीन दिनों से ऑडियो रिकॉर्डिंग को लेकर सुर्ख़ियों में रहे पूर्व विधायक श्री मंतूराम पवार ने आज इंडियन एक्सप्रेस न्यूजपेपर के खिलाफ पाखंजूर थाने में आवेदन दिया है। जिसमें उन्होंने लिखा, कि इस ऑडियो टेप के जरिये उन्हें बदनाम करने एवं उनके राजनैतिक करियर को धूमिल करने की कोशिश किया जा रहा है। इस ऑडियो टेप की सत्यता को सामने लाने तथा दोषियों को कड़ी से कड़ी सज़ा देने की शासन से गुहार लगाई।

Special News

Health News

Advertisement


Political News

Crime News

Kanpur News


Created By :- KT Vision