Latest News

मंगलवार, 12 जनवरी 2016

शाहजहाॅपुर - नील गायों ने बर्बाद की फसलें, भुखमरी की कगार पर किसान

जलालाबाद 12 जनवरी 2016 (अल्‍हागंज ब्‍यूरो). अल्हागंज क्षेत्र के दो दर्जन गाँवों के किसान इन दिनों बेहद परेशान हैं क्‍योंकि इनकी फसलें नील गायों ने तबाह कर दी हैं। जिसके कारण उन पर लगातार कर्जे बढ़ रहे हैं। इस स्थिति के चलते किसान भुखमरी के कगार पर पहुँच गए हैं।

प्राप्‍त जानकारी के अनुसार चिलौआ, रावतपुर, रामपुर, चौरासी, बजीरपुर, भरथौली, ततियारि, समापुर, मंझा, इमलिया,रत्नापुर,गोरा साथ में पास के लगे हरदोई जिले के गांव द्वार नगला, घनूनगला, धानीनगला, घसे आदि गाँवों में सैकड़ों की तादाद में जंगली गायें तथा नील गायें आवारा घूमती रहती हैं जो रात में झुण्ड के झुण्ड खेतों में हमला करके फसलें बर्बाद कर जाती हैं जिसकी वजह से खेत तबाह हो रहे हैं। इतना ही नहीं नील गायें खेतों की रखवाली कर रहे कास्तकारों पर हमलें कर रही हैं जिससे घबरा कर कास्तकार खेतों पर भी नहीं जा पा रहे हैं।स्थिति यह है कि खेतों में लगाई गयी लागत भी वापस नहीं आ पा रही है। किसानों पर देन दारियां बढ़ गयी हैं उनके बच्चे पढाई लिखाई से वंचित रह रहे हैं। कई बार गावों वालों ने प्रशासनिक अधिकारियों से व वनविभाग के अधिकारियों से भी शिकायत की लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है। इससे परशान होकर कास्तकार गुलाबचन्द्र त्रिपाठी, अनुज मिश्रा, रामफेरे मिश्रा, बृजमोहन दिक्षित, विमल पाण्डेय, हरिओम पाण्डेय, आशुतोष त्रिपाठी ,साह सिंह, अखरोट सिंह, चिरौंजी लाल, हरिओम, ओमदेव आदि सैकड़ों कास्तकारों ने मुख्यमंत्री और जिलाधिकारी को पत्र भेजकर समुचित व्यवस्था करवाने की मांग की है।

Special News

Health News

Advertisement


Created By :- KT Vision