Latest News

गुरुवार, 13 अगस्त 2015

रायपुर - नक्सली लगाए बैठे हैं घात, स्वतंत्रता दिवस पर कर सकते हैं बड़ी वारदात

रायपुर 13 अगस्‍त 2015(जावेद अख्तर). सूत्रों से जानकारी प्राप्त हुई है कि इस बार 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर नक्सलियों ने बकायदा योजना बनाकर किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की तैयारी की है और इसी योजना के तहत ही नक्सल प्रभावित इलाकों में नक्सलियों की अलग अलग टुकड़ी बनाकर भेज दी गयी है। नक्सल क्षेत्रों के सूत्रों की मानें तो इस बार 15 अगस्त पर वारदात करने के लिए नक्सलियों ने पहले ही काफी अधिक मात्रा में बंदूक की गोलियां, हथगोला बम, टिफिन बम, माइंस डायनामाइट, एंबुश जैसे हथियारों को इकट्ठा कर लिया है।
सूत्रों के हवाले से पता चला है कि इस स्वतंत्रता दिवस पर नक्सलियों द्वारा सुबह जब तिरंगा झंडा फहराया जाएगा उसी समय हमला करने की अधिक संभावना है। हमला करने के लिए शासकीय कार्यालयों, पुलिस थाने व चौकियों पर अधिक ध्यान केंद्रित किया हुआ है। नक्सली चाहते हैं कि स्वतंत्रता दिवस पर कुछ ऐसी बड़ी एक या अधिक वारदातों को अंजाम दिया जाए जिससे कि प्रदेश समेत पूरे देश में लोग 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस की बजाय काला दिवस के रूप में याद रखें। हालांकि आईबी को भी इसकी सूचना प्राप्त हो चुकी है जिसके चलते आईबी ने पुलिस विभाग को इस संभावना के चलते रिपोर्ट भेजी है, रिर्पोट जारी होते ही पूरा पुलिस महकमा हरकत में आ गया है। पूरे संभाग में हाई अलर्ट जारी किया गया है खासतौर पर नक्सल प्रभावित इलाकों में खास एहतियात बरतने, सतर्क और अत्यधिक सजग रहने के भी निर्देश दिए गए हैं। वहीं डीआरजी व एसटीएफ के जवान सीआरपीएफ के साथ मिलकर लगातार सीमाओं पर गश्त लगा रहे हैं और चौकसी कर रहे हैं।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, सुकमा जिले के मोरपल्ली व बस्तर के तुलसी डोंगरी इलाके में नक्सलियों के बड़े नेताओं व सरगनाओं द्वारा बैठक लिए जाने की सूचनाएं मिली हैं, जहाँ पर काफी बड़ी संख्या में नक्सलियों के मौजूद होने की जानकारी भी पता लगी है, तो वहीं दूसरी तरफ नक्सलियों के कूट संदेश भी खुफिया एजेंसियों ने ट्रेस किए हैं जिसमें स्वतंत्रता दिवस के पहले किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने के षड्यंत्र का खुलासा हुआ है। खुफिया एजेंसियों के द्वारा पुलिस को जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि नक्सली सुरक्षा कैम्पों अथवा थानों में सुनियोजित हमलों को अंजाम दे सकते हैं। वहीं अप्रत्याशित रूप से मैदानी क्षेत्र में हमला भी कर सकते हैं। आईजी बस्तर ने सभी जिलों के एसपी को एहतियात बरतने के निर्देश दिए हैं। आपात स्थिति का सामना करने के लिए जवानों को सजग रहने कहा गया है। वहीं शहर की सीमाओं पर भी गश्त बढ़ा दी गई है। प्रत्येक बड़े छोटे वाहनों की सघन चेकिंग की जा रही है।स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर आने वाले वीआईपी की सुरक्षा के लिए भी माक ड्रिलिंग व एक्सरसाइज जारी है। केंद्र से मिले रिजर्व बलों को भी सुरक्षा व्यवस्था में तैनात किया गया है। 

एसआरपी कल्लूरी, आईजी बस्तर ने कहा कि नक्सलियों के द्वारा हमले की साजिश हर राष्ट्रीय पर्व के दौरान की जाती है लेकिन सुरक्षा बल उनके मंसूबों को कामयाब नहीं होने देगा। रेंज में एहतियात बरतने के निर्देश दिए गए हैं। 

नक्सलियों ने फूंके सात वाहन
जावेद अख्तर, रायपुर, नारायणपुर/छत्तीसगढ़। नक्सलियों ने 15 अगस्त के पहले अपनी मंशा जता दी है वह इस स्वतंत्रता दिवस पर कुछ न कुछ अवश्य कर गुजरेंगे। पुलिस प्रशासन की तेज़ गश्त व चौकसी के बावजूद भी नक्सलियों ने एक एक करके सात वाहनों को फूंक दिया है, इस घटना के बाद से जिला में स्थिति कुछ तनावपूर्ण बन गई है। जिला मुख्यालय से 16 किमी दूर ओरछा मार्ग पर कापसी गांव में सोमवार सुबह नक्सलियों ने सड़क निर्माण में लगे सात वाहनों को आग के हवाले कर दिया। इस आगजनी की वारदात से करीब तीन करोड़ रूपए का नुकसान केएमसी कंपनी को होने की बात कही जा रही है। नक्सलियों ने वारदात को फरसगांव और हलामी मुंजमेटा थाना के बीच अंजाम दिया। इसके लिए वे रविवार की रात से कापसी के पास घूम रहे थे। सूत्रों के अनुसार नक्सलियों की छिनारी और करमरी एलओएस ने घटना को अंजाम दिया है।।वाहनों को फूंकने के लिए ग्रामीण वेशभूषा में हथियारों से लैस करीब 12 नक्सली सड़क पर मौजूद थे। सुबह आठ बजे गिट्टी लेकर फरसगांव की ओर जा रही हाईवा, ग्रेडर, टिप्पर और ट्रैक्टर को कापसी के पास रोकने के बाद सबसे पहले सातों वाहन चालकों से उनके मोबाइल मांगकर अपने पास रख लिए। फिर वाहन चालकों से थोड़ी देर बात करने के बाद वाहनों को आग लगाने का फरमान जारी कर डीजल टैंक को फोडऩे कहा। इसके बाद चालकों को अपने-अपने वाहनों में आग लगाने कहा। वाहनों में आग की लपटे उठने के बाद चालकों को मोबाइल लौटाकर नक्सली जंगल की ओर चले गए। 

अभिषेक मीणा, एसपी, नारायणपुर ने कहा कि जिस स्थान पर सड़क का निर्माण किया जा रहा है। वहां सुरक्षाबलों के द्वारा व्यापक निगरानी रखी जा रही है। नक्सलियों के द्वारा कापसी के पास बीच रास्ते में वाहनों को रोककर आग लगाई गई है। अज्ञात नक्सलियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

Advertisement

Political News

Crime News

Kanpur News


Created By :- KT Vision