Latest News

शुक्रवार, 24 जुलाई 2015

कानपुर - नकली शराब बनाने की फैक्ट्री का हुआ भंडाफोड़

कानपुर 24 जुलाई 2015 (महेश प्रताप सिंह). दादा नगर में बीते तीन माह से चल रही अवैध शराब फैक्ट्री का गुरुवार को भंडाफोड़ हो गया। इस फैक्ट्री के जरिए प्रदेश सरकार को कई करोड़ रुपये राजस्व की चपत लगी है। आबकारी टीम ने शिकायत मिलने पर छापेमारी की और 20 लाख के माल समेत दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया। फैक्ट्री में हरियाणा से तस्करी कर शराब की बोतलें लाई जाती थीं। इसके बाद लेबल, ढक्कन और होलोग्राम बदल कर उन्हें क्वार्टर के रूप में पैक कर दिया जाता था।
छापे के दौरान फैक्ट्री से हजारों पेटी बियर और शराब बरामद हुई है। गोविन्‍द नगर थाना क्षेत्र में दादा नगर साइड नंबर-1 की एच-23 नंबर फैक्ट्री कलक्टरगंज निवासी आशीष गुप्ता की है। तीन महीने पहले दादा नगर के एक दलाल के माध्यम से उन्होंने फैक्ट्री 35 हजार रुपये महीने किराए पर पर गोविन्‍द नगर बी ब्लाक में रहने वाले राजा भाटिया को दी थी। राजा भाटिया फैक्ट्री में हरियाणा से तस्करी कर शराब लाता था और एक बोतल से चार क्वार्टर बनाकर उनमें कंपनी का नया लेबल, नया ढक्कन और उत्तर प्रदेश सरकार का होलोग्राम लगाकर पैक कर देता था। इसके बाद यह शराब शहर के ठेकों में सप्लाई की जाती थी। पिछले कई दिनों से आबकारी विभाग को शहर में ऐसी शराब बिकने की सूचना मिल रही थी। गुरुवार को जिला आबकारी अधिकारी देवराज सिंह यादव के नेतृत्व में टीम ने एक लोडर का पीछा किया, जिसमें शराब की खाली बोतल ले जाई जा रही थीं। लोडर फैक्ट्री के अंदर जाकर जैसे ही थोड़ी देर बाद बाहर आया, टीम ने फैक्ट्री में छापेमारी कर दी।
गोविन्‍द नगर छह ब्लाक निवासी केवल कृष्ण मेहता और बिहार निवासी मनोज गुप्ता को गिरफ्तार कर टीम ने शराब की सप्लाई में प्रयोग की जाने वाली कार यूपी-64 ई 4609 को भी पकड़ लिया। छापेमारी में एडीएम सिटी अविनाश सिंह, एसीएम सात डीडी वर्मा, सीओ गोविंद नगर ओपी सिंह, आबकारी इंस्पेक्टर धर्मेंद्र यादव, रवि शंकर वर्मा, वीके सिंह, अनिल यादव, ए.के राय, अनिल भारती, रावेंद्र चौहान, राघवेंद्र तिवारी, प्रदीप कुमार व विकास कुमार पाल शामिल थे। प्रशासन ने टीम को 11 हजार इनाम दिया है।

Special News

Health News

Advertisement


Created By :- KT Vision