Latest News

सोमवार, 8 जून 2015

यूपी की जेलों में छापे - मुरादाबाद में मिले राष्ट्रपति भवन और बॉर्डर के नक्शे, पुलिस जांच में जुटी

मुरादाबाद/लखनऊ, 08 जून 2015. उत्तर प्रदेश की कई जिला जेलों में रविवार को छापा मारा गया, जिसमें मुरादाबाद के जिला कारागार में छापेमारी के दौरान हत्या के मामले में बंदी सिद्दीक के पास से सेना के जुड़े दस्तावेज, दिल्ली में स्थित महत्वपूर्ण सरकारी भवनों, बांग्लादेश के बार्डर के नक्शे और तमाम संवेदनशील सामग्री मिली है। कागजों और पेन ड्राइव में दर्ज इन जानकारियों को लेकर खुफिया एजेंसियां अलर्ट हो गई हैं। बंदी से लगातार पूछताछ हो रही है।
मुरादाबाद के डीएम दीपक अग्रवाल ने कहा, कि छापे के दौरान एक बंदी के पास से कुछ संवेदनशील दस्तावेज और पेन ड्राइव मिली है। बंदी पश्चिम बंगाल के दीमापुर का रहने वाला है और संभल में एक मीट कारखाने में कार्य करता था। वह हत्या के मामले में जेल में निरुद्ध है। उसके पास से मिली सामग्री की पड़ताल की जा रही है। जांच के बाद ही स्थिति साफ हो सकेगी। शासन के निर्देश पर सुबह भारी सुरक्षा इंतजामों के साथ जिला कारागार में छापा मारा गया। जेल की सभी बैरकों और अस्पताल को जमकर खंगाला गया। छापे के दौरान संभल में वर्ष 2011 में हुई एक हत्या के मामले में निरुद्ध बंदी के बिस्तर से कुछ गोपनीय दस्तावेज और पेन ड्राइव मिली। दस्तावेजों में सेना के कैंपों की जानकारी दर्ज होने से अफसर चौकन्ने हो गये। तत्काल बंदी को अन्य बंदियों से अलग करके पूछताछ शुरू हुई। पेन ड्राइव चेक की गई तो उसमें तमाम जानकारी और निर्देश मिले। तीन चिप भी मिली है। इसकी जानकारी शासन स्तर पर वरिष्ठ अधिकारियों को दी गई। सूत्रों के मुताबिक दस्तावेजों में सेना के कैंपों का हवाला दिया गया है। इसके साथ ही कूट भाषा में तमाम निर्देश भी दर्ज हैं। खुफिया एजेंसियां कूट भाषा में दर्ज इन निर्देशों को समझने का प्रयास कर रही हैं। अचानक हुई इस छापेमारी से जेलों में हड़कंप मच गया। इस दौरान प्रतापगढ़ जिला जेल में कैदियों के पास से चाकू और तेज धारदार हथियार बरामद हुए। इसके अलावा कई जेलों से मोबाइल फोन, कैश, शराब और बीयर की बोतलें, नशीले इंजेक्शन भी मिले हैं। देवेंद्र सिंह चौहान (डीजी, जेल) ने बताया कि ज्यादातर छापेमारी के दौरान जेलों में गुटखा, बीडी, सिगरेट, बीयर की बोतलें, मोबाइल, बेल्ट, छोटे चाकू और नकदी मिले हैं। उन्होंने बताया कि अब तक प्राप्त रिपोर्टों के मुताबिक, कहीं भी असलहे मिलने की सूचना नहीं है। प्रतापगढ़ की जेलों में छापेमारी के दौरान एक कैदी के पास से आठ हजार रुपये मिले हैं। सूबे में रविवार सुबह से ही गाजियाबाद, देवरिया, आजमगढ़ बरेली, बांदा, एटा, पीलीभीत, सुल्तानपुर, बस्ती, गोरखपुर और लखनऊ की जेल में आला अधिकारियों ने एक साथ छापेमारी शुरू कर दी। इसके लिए भारी मात्रा में पुलिस बल भी लगाया गया था। हर जिले के डीएम इस कार्रवाई का नेतृत्व कर रहे थे।

(IMNB)

Special News

Health News

Advertisement


Political News

Crime News

Kanpur News


Created By :- KT Vision