Latest News

गुरुवार, 2 अप्रैल 2015

बीजेपी के नेताओं को 15-15 लाख रुपये के 'चेक' देगी यूथ कांग्रेस

बेंगलुरु। राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में हिस्सा लेने के लिए बेंगलुरु आने वाले बीजेपी के सदस्यों को कर्नाटक यूथ कांग्रेस 15-15 लाख रुपये के ऐसे चेक देने वाली है, जिनमें पीएम मोदी के हस्ताक्षर हैं । गुरुवार से बेंगलुरु में बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक शुरू होने जा रही है, जिसमें 330 सदस्य हिस्सा लेंगे। यूथ कांग्रेस ने इन लोगों को ऐसे फर्जी चेक देने की योजना बनाई है, जो 'बैंक ऑफ भारतीय जुमला पार्टी' के नाम से बनाए गए हैं।
'भारत के नागरिकों' के नाम जारी इन चेकों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हस्ताक्षर भी हैं। काले धन के मुद्दे पर मोदी सरकार की 'नाकामी' पर निशाना साधते हुए यूथ कांग्रेस ने विरोध के लिए यह अनोखा तरीका चुना है। कर्नाटक यूथ कांग्रेस अध्यक्ष रिजवान अरशद ने बताया, 'लोकसभा चुनाव के लिए प्रचार के दौरान मोदी, उस वक्त के बीजेपी अध्यक्ष राजनाथ सिंह और वर्तमान अध्यक्ष अमित शाह ने वादा किया था कि वे काला धन वापस लाएंगे और हर नागरिक के खाते में 15-15 लाख रुपये डाल देंगे। हम बस वही वादा याद दिला रहे हैं।' इस चेक में बैंक के नाम में जो 'जुमला' लिखा है, दरअसल वह अमित शाह के हाल ही में दिए उस बयान से लिया गया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि हर नागरिक को 15 लाख देने की बात जुमला थी। शाह ने कहा था कि इसका मतलब यह था कि पैसे को वापस लाकर जनता के कल्याण में खर्च किया जाएगा। यूथ कांग्रेस ने उसी बयान पर निशाना साधा है। ये चेक इंग्लिश और कन्नड़ में हैं। भगवे रंग के पेपर पर बने इन चेक्स में डेट की जगह लिखा है '100 दिन के अंदर' और जिस खाते से रकम जमा होनी है, वह है- 420420420420. अकाउंट होल्डर की जगह पीएम मोदी के साइन हैं। अरशद का कहना है कि यह पीएम के सिग्नचेर की कॉपी नहीं है, बल्कि कुछ भी उट-पटांग सी लाइनें बना दी गई हैं। उन्होंने कहा कि यह सब लोगों में बीजेपी द्वारा किए गए झूठे वादों के बारे में जानकारी फैलाने के लिए किया गया है। चेक के पीछे की तरफ यूथ कांग्रेस ने पीएम मोदी, राजनाथ सिंह और अमित शाह के वे बयान प्रिंट किए हैं, जो उन्होंने 2014 लोकसभा चुनाव के दौरान दिए थे। अरशद ने कहा, 'अगर हमें पुलिस अंदर जाने देती है, तो हम खुद इन चेक्स को बीजेपी नेताओं को देंगे। पीएम और अमित शाह को भी। और अगर ऐसा नहीं हो पाया, तो हम पुलिस को चेक देंगे और गुजारिश करेंगे कि वे इन्हें मीटिंग में बैठे लोगों को दे दें।' कर्नाटक की यूथ कांग्रेस को देश में सबसे ज्यादा ऐक्टिव माना जाता है। वह इस तरह के 20 लाख चेक पूरे कर्नाटक में बांटने की योजना बना रही है। यूथ कांग्रेस का कहना है कि अगर यह तरीका मोदी सरकार की कमियों को दिखाने में कामयाब रहता है, तो देश के अन्य हिस्सों में इसे अपनाया जा सकता है।

(IMNB)

Video News

Political News

Crime News

Kanpur News


Created By :- KT Vision