Latest News

शनिवार, 11 अप्रैल 2015

जर्मनी में नेताजी बोस का परिवार मोदी से मिलेगा

नई दिल्ली ।  देश की आजादी की लड़ाई लड़ने वाले नेताजी सुभाष चंद्र बोस की बीस साल तक हुई जासूसी के खुलासे के बाद जर्मनी के बर्लिन में पीएम मोदी से सुभाष चंद्र बोस का परिवार मुलाकात करेगा. सू्त्रों के मुताबिक बोस के परिवार द्वारा जासूसी मामले के सभी दस्तावेज सामने लाने की भी मांग की जा सकती है.
सुभाष चंद्र बोस के परपोते सीए बोस ने कहा कि उनके भाई और नेताजी सुभाष चंद्र बोस के दूसरे परपोते सूर्या बोस सोमवार को बर्लिन में पीएम मोदी से मिलेंगे, उनके साथ जर्मनी में रहने वाले भारतीय समुदाय के कई जाने-माने लोग भी शामिल होंगे.पीएम मोदी से मिलकर सभी डॉक्यूमेंट्स को सार्वजनिक करने की भी परिवार द्वारा मांग की जाएगी. वहीं इस खुलासे की पूरी जांच की मांग भी परिवार करेगा.कल आई खबर के मुताबिक कांग्रेस सरकार ने 20 साल तक सुभाष चंद्र बोस के परिवार की जासूसी करवाई.   इन 20 सालों में से 16 साल तक देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की सरकार थी. देश की खुफिया एजेंसी आईबी नेहरू के अंतर्गत ही काम काम करती थी.इस दौरान सुभाष चंद्र बोस के परिवार वालों के विदेश दौरों पर नजर रखी जाती थी और उनके परिवार वालों की चिट्ठियों की भी जासूसी होती रही.  कांग्रेस सरकार ने 1948 से 1968 के बीच सुभाष चंद्र बोस के परिवार की खुफिया एजेंसी से जासूसी करवाई थी.


(IMNB)

Special News

Health News

Advertisement


Created By :- KT Vision