Latest News

मंगलवार, 24 मार्च 2015

मैं एग्जाम में बच्चों को किताबें दिला दिया करता था - लालू

पटना। बिहार बोर्ड परीक्षा में धड़ल्ले से हो रही नकल और इस पर हो रही बयानबाजी के बीच लालू यादव ने हमेशा की तरह अपनी अनोखी राय दी। लालू ने कहा,'अगर आप कही बाहर जाते हैं तो कोई भी आपकी डिग्रियों पर यकीन नहीं करेगा। अगर कोई परीक्षा पास होने लायक नहीं तो आप उसे फेल क्यों नहीं कर देते।
वह बार-बार एग्जाम में बैठेगा जब तक कि वह पास नहीं हो जाता।' लालू ने कहा,'नीतीश सरकार कह रही है कि वह नकल पर काबू नहीं कर सकती। जब मैं मुख्यमंत्री था तो एग्जाम हॉल में सबको किताबें दे दिया करता था। मैं कहता था ठीक है, आप लोग किताब से लिखिए। लेकिन आपको क्या लगता है कि अनपढ़ लोग किताब से देखकर लिख सकते हैं? वे लिखते रहते थे और तीन घंटे यूं ही खत्म हो जाते थे। वैसे भी उनमें से ज्यादातर फेल हो जाते थे। मेरा मतलब है कि नकल करने से किसी को कोई फायदा नहीं होने वाला है।' इससे पहले बिहार के शिक्षा मंत्री प्रशांत कुमार शाही ने एक प्रेस कॉफ्रेंस में कहा था, 'बच्चे नकल कर रहे हैं तो क्या करें? उन्हें गोली मार दें?' हाजीपुर में दसवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा में सरेआम नकल रहे छात्रों की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थीं। परीक्षा दे रहे स्टूडेंट्स के रिश्तेदार और दोस्त दीवारों पर चढ़कर उन्हें नकल करने में मदद कर रहे थे। इसकी रिपोर्टिंग विदेशी मीडिया में भी हुई जिसके बाद काफी बवाल हुआ था।

(IMNB)

Special News

Health News

Advertisement


Created By :- KT Vision