Latest News

शनिवार, 14 मार्च 2015

प्रधानमंत्री मोदी अब हर महीने करेंगे सचिवों और मुख्य सचिवों से बातचीत

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी केंद्र सरकार के सचिवों और राज्यों के मुख्य सचिवों से हर महीने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए संवाद कर सकते हैं। प्रधानमंत्री कार्यालय इसकी तैयारी कर रहा है। प्रधानमंत्री के प्रमुख सचिव नृपेन्द्र मिश्र ने इसकी जानकारी सचिवों को दी है। प्रधानमंत्री के इस नए प्रयोग को प्रगति नाम दिया जा रहा है।
प्रगति का मतलब होगा प्रो एक्टिव गवर्नेस एंड टाइमली इंप्लीमेंटेशन। सूत्रों ने कहा कि प्रधानमंत्री का यह प्रयास केंद्र की योजनाओं को गति देने और समय से उन्हें पूरा करने की दिशा में सार्थक कदम साबित हो सकता है। पीएम के त्रिस्तरीय प्रयास में पीएमओ और सचिवों की टीम के अलावा राज्यों के मुख्य सचिव अहम कड़ी होंगे। सूत्रों के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 28 मार्च को पहली बार वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए सचिवों से जुड़ेंगे। इसके बाद हर महीने के तीसरे सप्ताह या बुधवार को उनका संवाद शीर्ष अधिकारियों से हो सकता है। सूत्रों ने कहा कि प्रधानमंत्री चाहते हैं कि सरकार के नौ महीनों से ज्यादा के कार्यकाल में जो लक्ष्य तय किए गए हैं, उन्हें पूरा करने के लिए तेजी से निगरानी सिस्टम विकसित किया जाए। उनका मानना है कि केंद्र और राज्य मिलकर ही सही तरीके से वांछित लक्ष्य पूरा कर सकते हैं। इसलिए केंद्र के साथ राज्यों के भी आला अधिकारियों से भी संवाद कायम किया जाएगा। सूत्रों के मुताबिक पीएम का यह प्रयोग उनके सुशासन के मूलमंत्र का हिस्सा होगा। पीएमओ के शीर्ष अधिकारियों को प्रधानमंत्री ने कहा है कि वे राज्यों से आने वाले प्रस्तावों और उनकी जरूरतों पर सकारात्मक रुख अपनाएं। एक अधिकारी ने कहा कि केंद्र सरकार का पूरा फोकस राज्यों की भागीदारी बढ़ाने पर है। इसलिए उन्होंने अधिकारियों को यह भी कहा है कि वे राज्यवार समस्याओं को चिन्हित करके उसका समाधान तलाशने की दिशा में त्वरित प्रयास करें। केंद्र की ओर से भी तय किए गए लक्ष्य में राज्यों को कैसे भागीदार बनाया जाए इसकी योजना पीएमओ ने बनाई है। पीएम स्वयं इसका खाका अधिकारियों के सामने रखेंगे।

(IMNB)

Special News

Health News

Important News

International


Created By :- KT Vision