Latest News

बुधवार, 11 मार्च 2015

हिंदू-मुस्लिमों ने गाय का मांस खाकर किया बैन का विरोध

तिरुवनंतपुरम। केरल में एक अनोखे उत्सव का नजारा देखने को मिला जहां खुली रसोई में बीफ (गाय का मांस) पकाया गया। इतना ही नहीं, हिंदुओं और मुस्लिमों ने साथ बैठकर बीफ खाया भी। इस फेस्ट में आए लोग महाराष्ट्र में बीफ पर लगाए गए बैन का विरोध कर रहे थे।
केरल में बीफ का मतलब गाय और भैंस दोनों का मांस है और यहां बीफ खाना कोई धर्म से जुड़ा मसला भी नहीं है। केरल में बहुत से हिंदू ऐसे हैं जो न सिर्फ बीफ खाते है बल्कि यह लोगों का पसंदीदा मीट भी माना जाता है। केरल सीपीएम यूथ विंग के अजीत पी. ने कहा, 'मैं एक हिंदू हूं। मैं भी बीफ खाता हूं। मुझे अपनी पसंद की चीजें खाने की आजादी मिलनी चाहिए। इसलिए मैं यहां प्रोटेस्ट करने आया हूं।' अजित अपनी डिश मुहम्मद के साथ शेयर भी कर रहे थे। मुहम्मद ने कहा, 'हम दोनों को ही बीफ खाने से कोई समस्या नहीं है। यह केरल का कल्चर है। हम अगर कुछ खाना चाहते हैं तो कोई हमें कैसे रोक सकता है?' बीफ करी खाते हुए सीपीएम विधायक पी. श्रीरामकृष्णन ने कहा, 'मैं बीफ खाऊंगा और केरल के बहुत से लोग भी। कुछ बदलने वाला नहीं है।' पिछले हफ्ते महाराष्ट्र सरकार ने बीफ की बिक्री और व्यापार पर बैन लगा दिया था। कोई अगर बीफ खाता या बेचता हुआ पकड़ा गया तो उसे पांच साल की जेल और 10,000 रुपये का जुर्माना हो सकता है। इस फैसले के बाद महाराष्ट्र के हजारों बीफ व्यवसाइयों पर बेरोजगारी का खतरा मंडरा रहा है। बीफ बैन के खिलाफ सोशल मीडिया पर जमकर आलोचना हुई है। बॉलिवुड के भी कई सिलेब्स ने इस फैसले के खिलाफ प्रदर्शन किया था।

(एनबीटी)

Special News

Health News

Advertisement

Important News


Created By :- KT Vision